मंत्री श्री आरिफ अकील ने किया कृषि मेले का शुभारम्भ

गैस त्रासदी, राहत एवं पुर्नवास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग और सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री श्री आरिफ अकील ने बुधवार को सीहोर में कृषि मेले का शुभारम्भ किया। श्री अकील ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा कृषकों को हर क्षेत्र में मदद एवं बेहतर तकनीकी सुविधाएँ देने का हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। सीहोर जिले में अब तक लगभग 82 हज़ार कृषकों का ऋण माफ हुआ है। शेष पात्र किसानों का भी ऋण माफ हो जाएगा। कृषि के साथ साथ सीहोर जिले को गौशाला खोलने में प्रदेश में प्रथम स्थान पर लाने का लक्ष्य है।


कृषि मेले में हजारों की संख्या में कृषक उपस्थित थे। कृषि विभाग द्वारा ड्रोन तकनीक से फसलों में कीटनाशक के छिड़काव का प्रदर्शन भी किया गया। साथ ही, कृषकों को कृषि के आधुनिक तरीके, नवीन तकनीक, जैविक खेती, पशुपालन, मछली पालन, रेशम पालन के साथ-साथ छोटे-छोटे उद्योगों की जानकारी प्रदर्शनी के माध्यम से दी गई।


अनुदान राशि प्रमाण-पत्र वितरित


प्रभारी मंत्री ने कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन एवं मत्स्य पालन से संबंधित हितग्राहियों को अनुदान राशि के प्रमाण-पत्र वितरित किये। कार्यक्रम में कस्टम हायरिंग केंद्र के हितग्राही को 10 लाख रुपए की राशि का अनुदान शासन से प्राप्त हुआ जिसका प्रमाण पत्र सांकेतिक रूप से हितग्राही को प्रदान किया गया। इसी प्रकार कंबाइन हार्वेस्टर के हितग्राही को 8 लाख रुपये की राशि का अनुदान प्राप्त हुआ। आत्मा योजना अंतर्गत सर्वोत्तम कृषकों को प्रभारी मंत्री ने 10.10 हज़ार रुपये के पुरस्कार तथा स्व सहायता समूहों को सीड मनी प्रदान की।


Popular posts
नवरात्र विशेष : दिन में तीन रूपों में दर्शन देती हैं रानगिर की मां हरसिद्धि
Image
5 राज्यों के चुनाव नतीजों का सबक:भाजपा को समझना होगा कि सांस्कृतिक पहचान वाले राज्यों में दिल्ली की राजनीति नहीं चलेगी; कांग्रेस को रीजनल लीडर तैयार करने की जरूरत
Image
MP में लालची अस्पतालों पर नकेल:भोपाल में 8 अस्पतालों ने मरीजों से 18 लाख रु. ज्यादा लिए थे, सब लौटाने पड़े; सरकार बोली- लोग FIR कराएं
Image
अफसरों के दबाव में दो डॉक्टरों का इस्तीफा:इंदौर की स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गाडरिया बोलीं - कलेक्टर का व्यवहार सही नहीं; मानपुर के मेडिकल ऑफिसर ने लिखा- एसडीएम के व्यवहार से व्यथित हूं
Image
झारखंड के 32 गांवों से ग्राउंड रिपोर्ट:पांच दिन में जाना संथाली आदिवासी और कुरमी बहुल इलाकों का हाल, इनमें 20 गांवों के 3834 परिवारों में एक भी संक्रमित नहीं मिला
Image