कांग्रेस के कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र सरकार गेहूं के स्थान पर जरूरतमंदों को राशन दुकानों से आटा वितरित कराये

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल ने प्रदेश के लाखों जरूरतमंद, गरीब व्यक्तियों की चिंता जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को पत्र लिखकर उनसे आग्रह किया है कि वे प्रदेश की समस्त राशन की दुकानों से गरीबों एवं अन्य वर्गों को मिलने वाले गेहूं के स्थान पर उन्हें आटा वितरित किये जाने की व्यवस्था हेतु तत्काल प्रभाव से निर्देश जारी करें, ताकि कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहे गरीब, जरूरतमंद व्यक्ति और उनके परिवार इस संकट के समय अपने भोजन का प्रबंध सुगमता से कर सकंे।



श्री गोयल ने शिवराजसिंह चैहान को पुनः मुख्यमंत्री बनने पर बधाई देते हुए उनसे आग्रह किया कि मप्र में लाॅकडाउन की स्थिति होने के कारण गरीब एवं जरूरतमंदों को उक्त गेहूं की पिसाई कराने में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ा रहा है तथा इस महंगाई के दौर में उन्हें पिसाई कराना भी काफी महंगा पड़ता है। मप्र सरकार द्वारा गरीबों, जरूरतमंद व्यक्तियों को राशन की दुकानांे से गेहूं का वितरण किया जा रहा है, इस संबंध में मेरा आग्रह है कि राशन की दुकान से गेहूं के स्थान पर आटा वितरित किया जावे, ताकि वे तत्काल उसका उपयोग अपनी आजीविका चलाने में कर सकें।



गंभीर संकट की इस घडी में हम सबका एक ही दायित्व है कि प्रदेश की जनता भूखी न सोये इस हेतु यदि आप शीघ्र निर्णय लेते हुए प्रदेश की सभी फ्लोर मिल चालू कराने के निर्देश जारी करते हैं तो इससे स्थिति में काफी सुधार आएगा, साथ ही मेरा आपसे एक और है कि खाद्य सामग्री के परिवहन पर रोक न लगायी जाये इस हेतु संबंधितों को निर्देशित भी करने का कष्ट करें, ताकि खाद्य सामग्री जरूरतमंदों तक आसानी से पहुंच सके।



प्रदेश प्रदेश कांगे्रस कार्यालय द्वारा जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट बनवाकर रोज लगभग 30 हजार खाने के पैकेट तैयार कर कांगे्रसजनों द्वारा भोपाल अथवा आसपास के क्षेत्रों में पहुंचाने का कार्य पूरी व्यवस्थाओं एवं सोशल डिस्टेंडिंग का ध्यान रखकर किया जा रहा है। खाना बनाने वाले कर्मचारियांे, भोजन ले जाने वाले सभी आगंतुकों के हाथों को सेनेटाईज किया जा रहा है। वहीं प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी की भावना के अनुरूप प्रदेश के अन्य शहरों में भी जिला, शहर एवं ब्लाक कांगे्रस द्वारा भोजन के पैकेट तैयार कराकर जरूरतमंद तक पहुंचाये जा रहे हैं।