काम की खबर: करते हैं गैस सिलिंडर का इस्तेमाल, तो इन परिस्थितियों में मिलेगा 6 लाख रुपये का लाभ

कई बार लोगों को कुछ योजनाओं व सुविधाओं का लाभ केवल इसलिए नहीं मिल पाता है क्योंकि उन्हें इसकी जानकारी नहीं होती है। अगर आप एलपीजी गैस सिलिंडर का इस्तेमाल करते हैं, तो ये खबर आपके लिए लाभदायक साबित होगी। आज के समय में भारत के अधिकतर घरों में रसोई गैस पर खाना बनता है। लेकिन अभी भी बहुत से लोगों को एलपीजी सिलिंडर से जुड़ी योजनाओं के बारे में पता नहीं है। इन्हीं में से एक है सिलिंडर पर मिलने वाला इंश्योरेंस कवर।


 latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news


आपको गैस सिलिंडर पर मिलने वाले इंश्योरेंस के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि इससे आपको लाखों रुपये तक का लाभ हो सकता है। यह बीमा कवर कनेक्शन लगने के पहले दिन से शुरू हो जाता है।


तेल कंपनियां अपनी तरफ से छह लाख रुपये तक का कवर देती हैं। यदि आपके घर में गैस हादसा हो जाता है, तो आपको अपने एलपीजी वितरक को इसकी जानकारी देनी होगी। फिर वह इस संबंध में बीमा कंपनी को जानकारी देगा और आगे की प्रक्रिया को पूरा करवाएगा।


आइए जानते हैं आपको अलग-अलग परिस्थितियों में कितना इंश्योरेंस कवर मिलता है।


सिलिंडर के साथ मिलता है लाखों का बीमा
यदि किसी कारणवश एलपीजी सिलिंडर के ब्लास्ट में किसी की मौत होती है तो गैस कंपनी प्रति व्यक्ति छह लाख रुपये मुआवजे के रूप में देती है। 
वहीं यदि कोई व्यक्ति गैस सिलिंडर के ब्लास्ट में घायल हो जाता है तो उसके इलाज के लिए अधिकतम दो लाख रुपये मिलते हैं। 
इसके साथ ही यदि धमाके में किसी की संपत्ति को नुकसान पहुंचता है तो इसके लिए दो लाख रुपये तक मिलते हैं।